Thursday, December 4, 2014

साहू जी के नुस्‍खे 2 : वातरोग (उम्र के साथ-साथ घुटनों में होने वाले दर्द, आर्थराइटिस) का इलाज

साहू जी के नुस्‍खे 2 : वातरोग (उम्र के साथ-साथ घुटनों में होने वाले दर्द, आर्थराइटिस) का इलाज 

पूर्वरंग: आज रायपुर के साहू जी (डॉ. आर.के. साहू) से मुलाकात हुई। दुनिया और समाज की दृष्टि से देखें तो उनकी गिनती बड़े आदमियों में होती है, लेकिन आज भी उतने ही सरल और सहज हैं। लोगों की सेवा और मदद के लिए सदैव तत्‍पर। बात बात में पता चला कि उनके पास औषधीय विद्या भी है। सो क्‍यों न उनका फायदा उठाया जाए: 

1. एक पाव हरसिंगार (पारिजात) के पत्ते धोकर दो लीटर पानी में उबालें। इतना उबालें कि पानी सूखकर 1 लीटर रह जाए, तो उसे उतारकर ठंडा करें एवं छानकर बोतल में भर लें और फ्रिज में सुरक्षित रख लें। प्रतिदिन सुबह खाली पेट एक कप घोल हल्‍का गुनगुना करके पीएं। एक घंटे तक अन्‍य कोई भी चीज खाना पीना मना है। वैसे तो राहत पंद्रह दिन के बाद दिखनी शुरू हो जाती है, परंतु रोग की तीव्रता के अनुसार समह अधिक लग सकता है। दो महीने के निरंतर उपयोग के बाद घुटनों के दर्द में पर्याप्‍त राहत मिलेगी। फिर भी यदि पूरी राहत न मिले तो यह इलाज जारी रखा जा सकता है। इससे कोर्इ नुकसान नहीं होता।विस्‍तृत जानकारी के लिए चाहें तो संपर्क पता है : rksahu56@gmail.com. 

2 comments:

dr.mahendrag said...

बहुत उपयोगी जानकारी

कौशलेन्द्र said...

सियाटिक नर्व के दर्द की यह विशिष्ट औषधि है ।